आपका समर्थन, हमारी शक्ति

गुरुवार, 8 अक्तूबर 2009

‘इंगेजमेंट रिंग‘ की जगह ‘इंगेजमेंट बैण्ड‘

पिछले दिनों एक पारिवारिक मित्र के यहाँ होने जा रहे इंगेजमेंट हेतु उनके साथ रिंग खरीदने गई तो पता चला कि यह चलन तो अब पुराना हो चला है। अब दौर है इंगेजमेंट बैण्ड का। जब इस संबंध में ज्वैलर से बात की तो कई बातें सामने आईं, जिन्हें इस पोस्ट के माध्यम से शेयर कर रही हूँ।

सगाई की अंगूठी हर कोई सहेज कर रखता है। आखिर इससे एक अनूठे बंधन की शुरूआत जो होती है। वक्त के साथ अब इंगेजमेंट रिंग की जगह इंगेजमेंट बैण्ड सगाई की शान बना हुआ है। सोबर और स्मार्ट लुक की वजह से युवाओं के बीच ये बैण्ड काफी तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं। दिलचस्प तथ्य तो यह है कि इनका लुक आम अंगूठियों की तरह तड़क-भड़क वाला नहीं होता है। हालांकि अभी भी तमाम युवा इंगेजमेंट बैण्ड में पीले सोने का बेस ही पसंद कर रहे हैं पर तमाम लोगों को व्हाइट गोल्ड का बेस भा रहा है। इंगेजमेंट बैण्ड में सबसे बेहतरीन लुक प्लैटिनम का आता है। लेकिन यह हर किसी के खर्च के अंतर्गत आता भी नहीं। व्हाइट गोल्ड से बने इंगेजमेंट बैण्ड थोड़ा सस्ते में ही मिल जाते हैं। रीमिक्स के इस दौर में पीले सोने के साथ व्हाइट गोल्ड, व्हाइट गोल्ड पर रोडियम पालिश और व्हाइट गोल्ड के साथ कापर गोल्ड का मिश्रण भी फैशन में है। इनमें डायमण्ड का इस्तेमाल भी काफी पसंद किया जा रहा है। खूबसूरत आकार में दिखने वाले इन इंगेजमेंट बैण्ड में ऊपर से चैड़े और नीचे से पतले आकार वाले ‘ब्राड-टु-नैरो‘ और ‘नैरो-टु-ब्राड‘ बैण्ड का खूब चलन है।‘ लोरल पैटर्न वाले पतले बैण्ड भी लोगों की पसंद है। इनके निचले हिस्से में सोने का जालीदार फ्लोरल वर्क होता है और ऊपर डायमण्ड का जड़ाऊ लोरल पैटर्न मौजूद होता है। ये आम आदमी के लिए 7,000 रूपये से लेकर रईसो के लिए 40 लाख रूपए तक के मूल्य में आते हैं।

तो उन महानुभावों के लिए खुशखबरी है जो इंगेजमेंट रिंग की जगह कुछ नया प्रयोग देखना चाहते हैं और अपने को फैशन की इस रीमिक्स दुनिया के साथ कदमताल करते देखना चाहते हैं।

--आकांक्षा यादव
एक टिप्पणी भेजें