आपका समर्थन, हमारी शक्ति

शुक्रवार, 9 अप्रैल 2010

'शब्द-शिखर' के एक साथ दो शतक पूरे

आज कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि क्या लिखूं. इसी उधेड़बुन में डैश बोर्ड पर गई तो मुझे आश्चर्य मिश्रित हैरानी हुई कि शब्द-शिखर पर मैंने 120 पोस्ट का सफ़र पूरा कर लिया है. यह शतक कब बन गया, पता ही नहीं चला. इस बीच चिटठा जगत पर भी शब्द-शिखर का सक्रियता क्रमांक 97 पर पहुँच गया है...तो एक ख़ुशी अपने ब्लॉग पर शतक पोस्ट मारने की व दूसरी ख़ुशी अपने इस चिट्ठे के 100 सक्रिय ब्लॉगों में पहुँचने की.

यह आप लोगों का स्नेह ही है की हम यहाँ तक पहुँचे. आपकी टिप्पणियाँ हमें सदैव प्रेरित करती हैं. विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में शब्द-शिखर की चर्चा ने भी हमारी हौसला आफजाई की. तो आज की पोस्ट में इसे ही आप लोगों के साथ सेलिब्रेट करते हैं...दोनों ही मामला शतक से ही जुड़ा हुआ है, यानी शब्द-शिखर ने दो शतकों को छुआ है...एक शतक पार करने की और दूसरी शतक में स्थान पाने की.आप लोगों का स्नेह यूँ ही बना रहा तो "शब्द-शिखर" यूँ ही तरक्की के पायदान चढ़ता रहेगा. आप सभी के सहयोग के लिए आभार !!
एक टिप्पणी भेजें