आपका समर्थन, हमारी शक्ति

शुक्रवार, 17 अक्तूबर 2014

'शक्ति' देवी को 'शांति' के लिए किया संयुक्त राष्ट्र ने सम्मानित

अपने भारत देश की नारियाँ सिर्फ देश में ही नहीं, बाहर भी अपने कार्यों से देश को गौरवान्वित कर रही हैं। भारत की  महिला पुलिस इंस्पेक्टर  शक्ति देवी को संयुक्त राष्ट्र ने विशेष सम्मान से नवाजा है। जम्मू-कश्मीर पुलिस में इंस्पेक्टर शक्ति देवी को अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन की ड्यूटी में असाधारण उपलब्धियां अर्जित करने और यौन व लिंग आधारित हिंसा के पीड़ितों की मदद की खातिर यूएन की पुलिस शाखा ने प्रतिष्ठित इंटरनैशनल फीमेल पुलिस पीसकीपर अवॉर्ड 2014 से सम्मानित किया है। जम्मू-कश्मीर पुलिस में इंस्पेक्टर शक्ति देवी फिलहाल अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन में तैनात हैं।

यूएन पुलिस डिविजन की ओर से भारतीय दूतावास को भेजे पत्र में कहा गया है कि इंस्पेक्टर शक्ति देवी को अफगानिस्तान के विभिन्न हिस्सों में वुमन पुलिस काउंसिल का नेतृत्व करने के लिए सम्मानित किया गया। इस पत्र में कहा गया है कि देवी ने महिला पुलिस के स्तर में सुधार में योगदान दिया है और पुलिसिंग के लोकतांत्रिक सिद्धांतों के लक्ष्य को ग्रहण करने में अफगान पुलिस की मदद की है।

कनाडा के विनिपेग में इस महीने के शुरू में आयोजित इंटरनेशनल असोसिएशन ऑफ वुमन पुलिस (आईएडब्ल्यूपी) के सम्मेलन के दौरान यह सम्मान दिया गया। यह पुरस्कार संयुक्त राष्ट्र के किसी शांति अभियान में सेवा देने वाली किसी असाधारण महिला पुलिस शांतिरक्षक को दिया जाता है। 

गौरतलब है कि भारत संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों में सर्वाधिक योगदान देने वाला देश है। अब तक भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के समर्थन से चलाए गए 69 शांति रक्षा अभियानों में से 43 अभियानों में 170,000 से अधिक सैनिकों को भेजा है। शांति रक्षा अभियानों और सैनिकों से संबंधित लागत के लिए संयुक्त राष्ट्र भारत का 11 करोड़ डॉलर का देनदार है।
-- आकांक्षा यादव @ शब्द-शिखर 

एक टिप्पणी भेजें