आपका समर्थन, हमारी शक्ति

बुधवार, 22 अप्रैल 2015

बाल विवाह के विरुद्ध सचेतना


राजस्थान के जोधपुर क्षेत्र में बाल-विवाह काफी प्रचलित हैं। यद्यपि इसे रोकने हेतु तमाम सरकारी और गैरसरकारी प्रयास किये जा रहे हैं, पर फिर भी इस क्षेत्र में अभी और कार्य बाकी है। संयोगवश आज आखा तीज ( अक्षय तृतीया) का त्यौहार है और इस दिन तो यहाँ शादियों की खूब धूमधाम है। कई लोग इस दिन की आड़ में बाल-विवाह भी कर-करा लेते हैं। यहाँ प्राप्त शादी के तमाम निमंत्रण पत्र में वर-वधू की जन्मतिथि भी देखने को मिली, ताकि बाल विवाह पर नियंत्रण किया जा सके। तमाम माएँ बाल विवाह के विरुद्ध खुलकर बोलने लगी हैं, उन्हें यह अहसास हो गया है कि उनकी बिटिया रानी सिर्फ शादी-ब्याह के लिए नहीं बनी है, बल्कि अपनी शिक्षा-कैरियर, सपने देखने की आजादी और तमाम अरमानो को पूरा करते हुए उसे आसमां की ऊँचाइयों को भी छूना है !!

-(पतिदेव कृष्ण कुमार यादव जी के फेसबुक वाल से)
एक टिप्पणी भेजें