आपका समर्थन, हमारी शक्ति

मंगलवार, 16 जून 2015

मारीशस की पहली महिला राष्ट्रपति बनीं अमीना गुरीब फकिम

नारी-सशक्तिकरण की बात पूरी दुनिया में चल रही है।  राजनीति में तमाम महिलाओं ने अपनी भागीदारी दर्ज की है, पर उनमें से कुछेक ही सत्ता के शीर्ष पर पहुँची हैं। अपने देश भारत की ही बात करें तो अब तक प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति पद पर मात्र एक-एक महिलाएं इंदिरा गाँधी और प्रतिभा पाटिल ही पहुँची हैं। तमाम ऐसे देश हैं, जहाँ अभी तक महिलाएं सत्ता शीर्ष तक नहीं पहुँच सकी हैं।  इन्हीं में से एक मॉरीशस में 56 साल की अमीना गुरीब फकिम देश की नई राष्ट्रपति होंगी। 

पूर्व अकादमिक हस्ती और वैज्ञानिक अमीना गुरीब फकिम को मारीशस की पहली महिला राष्ट्रपति बनने का सौभाग्य भी प्राप्त हुआ है।  वह लम्बे समय से मारीशस में औरतों के अधिकारों के लिए सक्रिय रही हैं। वह पांच वर्ष के लिए राष्ट्रपति पद पर रहेंगी। उन्होंने कैलाश प्रयाग का स्थान लिया है। उनकी उच्च शिक्षा ब्रिटेन में हुई है। उनके दो बच्चे हैं। अमीना गुरीब फकिम के पति सर्जन हैं। उन्हें देश के प्रधानमंत्री अनिरुद् जुगन्नाथ का करीबी माना जाता है।

गौरतलब है कि  मारीशस को लघु भारत माना जाता है। वहां पर भारतवंशी बहुमत में है। अमीना गुरीब फकिम के पुरखे भारत से ही मारीशस में जाकर बसे थे। इस उपलब्धि पर हम सभी को गर्व होना चाहिए !! 

एक टिप्पणी भेजें